**New post** on See photo+ page

बिहार, भारत की कला, संस्कृति और साहित्य.......Art, Culture and Literature of Bihar, India ..... E-mail: editorbejodindia@yahoo.com / अपनी सामग्री को ब्लॉग से डाउनलोड कर सुरक्षित कर लें.

# DAILY QUOTE # -"हर भले आदमी की एक रेल होती है/ जो माँ के घर तक जाती है/ सीटी बजाती हुई / धुआँ उड़ाती हुई"/ Every good man has a rail / Which goes to his mother / Blowing wistles / Making smokes [– आलोक धन्वा, विख्यात कवि की एक पूर्ण कविता / A full poem by Alok Dhanwa, Renowned poet]

यदि कोई पोस्ट नहीं दिख रहा हो तो नीचे "Current Page" पर क्लिक कीजिए. If no post is visible then click on Current page given below. // Mistakes in the post is usually corrected in ten hours once it is loaded.

Sunday, 3 September 2017

सांस्कृतिक परिक्रमा / अंक- 4.9.2017 (Cultural Round-up by Bihari Dhamaka blog)

भोपाल, आरा, गया, बेगुसराय, खगौल, दिल्ली और पटना के अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की झलकी
नोट: इस पोस्ट में शामिल करने हेतु अपने सांस्कृतिक कार्यक्रमों के फोटो को उसके संक्षिप्त विवरणों के साथ बिहारी धमाका ब्लॉग में ऊपर दिये गए व्हाट्सएप्प नम्बर (फोन न करें)  अथवा ईमेल  (hemantdas_2001@yahoo.com) पर शीघ्र भेजें.  



(ऊपर में) साहित्य अकादमी, नई दिल्ली के द्वारा आयोजित कार्यक्रम "युवा साहिती" बहुभाषी कविसम्मेलन में हिन्दी भाषा साहित्य परिषद् खगड़़िया के युवा साहित्यकार शंकरानन्द ने राष्ट्रीय स्तर पर हिन्दी भाषा के कवि के रूप में कविता पाठ कर खगड़़िया को गोरवान्वित किया है। 30 अगस्त2017 को आयोजित इस कार्यक्रम में हिन्दी के लिए मात्र शंकरानन्द का चयन हुआ था।असमियां,उर्दू, मैथिली और हिन्दी से देश भर के एक-एक कवि का चयन हुआ था। शंकरानन्द को 14000/-चौदह हजार रूपये का चेक मिला है।खगड़़िया और खगड़़िया से बाहर के कवियों/साहित्यकारों की लगातार बधाइयाँ मिल रही हैं।
ज्ञातव्य है कि वागर्थ ,कोलकाता ने शंकरानन्द की पहली किताब "दूसरे दिन के लिए" प्रकाशित किया था तो दूसरी किताब "पदचाप के साथ " ,राजभाषा, विभाग, बिहार सरकार के पांडुलिपि प्रकाशन हेतु चयनित होकर बोधिप्रकाशन,राजस्थान से प्रकाशित हुई थी।  (नीचेे के कुछ चित्रों के बाद दो चित्र भी)

(ऊपर में) रंगमंडल भारत भवन,भोपाल, का पाँच दिवसीय आयोजन,  (1 सितंबर से 5 सितंबर 2017) "प्रख्यात रंगकर्मी बकारंत स्मृति समारोह" "अदरांजलि " के अन्तर्गत, "विश्वा " पटना की नाट्य प्रस्तुति, "जनवासा "
लेखक :- रविन्द्र भारती निर्देशक :- राजेश राजा  संगीत :- बृज बिहारी मिश्रा नाल :- आदित्य गुंजन प्रकाश :- रोशन  स्थान :- अंतरंग, भारत भवन दिनांक :- 4 सितंबर 2017 समय;- 7 बजे शाम । आप सब सादर आमंत्रित हैं ।




दिल्ली में बिहारी संस्कृति का नाटक

हर्ष के बात जे मिथिलांगन अपन 25 बरख पूरा क' लेलक अछि। एकर रजत जयंती समारोह उत्साह पूर्वक मनेवाक तैयारी चलि रहल अछि। कार्यक्रम निम्न प्रकार अछि:- # रजत जयंती 9 सितम्बर (शनिदिन) क' होयत। # स्थान: ऑडिटोरियम, दीनदयाल उपाध्याय कॉलेज, निकट NSIT & द्वारका मोड़ मेट्रो स्टेशन, सेक्टर 3, द्वारका, नई दिल्ली। # समय- प्रात: 10 बजे स' संध्या 8 बजे तक

कार्यक्रम के प्रारूप: 10 बजे- गोशाऊनी गीत आ पारम्परिक गीत, 12 बजे- बच्चा-बुच्ची के मैथिल परिधान प्रदर्शन, 2 बजे- मैथिल भोजन प्रदर्शन आ विक्रय, 3 बजे- सांस्कृतिक कार्यक्रम 4.30 बजे- मणिपद्म जयंती कार्यक्रम एवं पोथी विमोचन 6 बजे- मैथिली नाटक 8 बजे समापन। अपने सब स' विशेष आग्रह जे समय पर सपरिवार अपन ईष्ट- मित्र, सगा-संबंधी संग अवश्य पधारी। (Sent by Abhay Kumar Lal Das)


डॉ.. चंद्रकांत लाल दास जो प्रसिद्ध सरोदवादक थे अब नहीं रहे. पर उन्होंने अपनी पाँचों बेटियों को कला की विरासत दे डाली. रमा दास (बड़ी बेटी) कत्थक नृत्यांगना और प्राध्यापिका हैं, एक रष्ट्रीय स्तर की सरोदवादिका कलाकार हैं. रेखा दास भी कला से सम्बद्ध हैं. इनमें से एक जे.डीई.वीमेंस कॉलेख में म्यूजिक की प्राध्यापिका हैं. छोटी बेटी रीना सोपम हिंदुस्तान टाइम्स में कला की रिपोर्टर हैं जो कला से सम्बंधित पुस्तकों की लेखिका भी हैं.

ब्लॉगर हेमन्त दास 'हिम' अपने भाइयों के साथ दिवंगत चंद्रकांत लाल दास के आवास पर सांत्वना देने गये जहाँ उनकी भेंट दिवंगत महान राष्ट्रीय स्तर के सरोदवादक \स्व. दास की आदरणीया धर्मपत्नी से हुई जो स्वयं भी आकाशवाणी की नाट्य कलाकार रह चुकी हैं.
चंद्रकांत लाल दास (दिवंगत राष्ट्रीय स्तर के सरोदवादक) का रेखाचित्र

(ऊपर में ) लेख्य मंजुषा की कवि गोष्ठी में आये हुए दर्शक और कवि-गण यह कार्यक्रम  राष्ट्रीय स्तर के अत्यंत लोकप्रिय युवा शायर समीर परिमल की पुस्तक 'दिल्ली चीखती है' की अभूतपूर्व सफलता तथा काफी लोकप्रिय युवा शायर डॉ. रामनाथ शोधार्थी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में किया गया था. 
 (नीचे के तीन चित्र भी)





मगही नाटक 'चण्डी का वशीकरण' के कलाकार

मगही नाटक 'चण्डी का वशीकरण' के दर्शक








बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन का हाल का कर्यक्रम


दिल्ली में युवा साहिति

दिल्ली में युवा साहिति

दिल्ली में युवा साहिति
खगौल में  नाटक

Photography me vishes yogdan ke liye Shilpi Surendra smriti samman puraskar RUPAK ko dete huye suprasidh film script writer Shri Shaiwal







(ऊपर में ) बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा (नीचे के अनेक चित्र भी)


बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा

बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा

बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा

बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा

बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा

बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा
आज (4.9.2017) शाम 6 बजे प्रेमचंद रंगशाला में आपका स्वागत है.. शाम 6 बजे देखिए नुक्कड़ नाटक....#रजा_का_बजा / लेखक:- सफ़दर हाश्मी निर्देशन:- समीर कुमार प्रस्तुति:- दि आर्ट मेकर(पटना)
शाम 7 बजे मुख्य मंच पर देखिए.. नाटक:- लेखक का कुत्ता लेखक:- दयानंद शर्मा निर्देशन:- अभिषेक राज प्रस्तुति:- इमैजिनेशन(पटना) .. स्थान:- प्रेमचंद रंगशाला (सैदपुरपटना) / समय:- 6 बजे संध्या (-Sent by Saurabh Safary)

बेगुसराय में आयोजित परिचर्चा









भागलपुर में नाट्योत्सव

दिनांक 4.9.2017 को बिहार हिंदी साहित्य सम्मलेन में आयोजित कार्यक्रम में डॉ. अनिल सुलभ, डॉ. शंकर प्रसाद तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति साहित्य/ कला से जुड़े व्यक्ति को सम्मानित करते हुए 

आमंत्रण - 'रंगम' और 'हमनवाँ' द्वारा नाटक 'अजनबी' का मंचन कालिदास रंगालय, पटना में 4 सितम्बर को 6.30 बजे सायं / नाटक 'अजनबी' के मंचन में आप सादर आमंत्रित हैं. / दिनांक- 4 सितम्बर,2017 **  समय-6.30 सायं / स्थान- कालिदास रंगालय, गांधी मैदान, पटना