**New post** on See photo+ page

बिहार, भारत की कला, संस्कृति और साहित्य.......Art, Culture and Literature of Bihar, India ..... E-mail: editorbejodindia@yahoo.com / अपनी सामग्री को ब्लॉग से डाउनलोड कर सुरक्षित कर लें.

# DAILY QUOTE # -"हर भले आदमी की एक रेल होती है/ जो माँ के घर तक जाती है/ सीटी बजाती हुई / धुआँ उड़ाती हुई"/ Every good man has a rail / Which goes to his mother / Blowing wistles / Making smokes [– आलोक धन्वा, विख्यात कवि की एक पूर्ण कविता / A full poem by Alok Dhanwa, Renowned poet]

यदि कोई पोस्ट नहीं दिख रहा हो तो नीचे "Current Page" पर क्लिक कीजिए. If no post is visible then click on Current page given below. // Mistakes in the post is usually corrected in ten hours once it is loaded.

Sunday, 19 November 2017

अंगिका की अंगराई-9: हमरो विधाता छै एतना कठोर / कवि- सुधीर कुमार प्रोग्रामर (Angika poem with poetic English translation)

Blog pageview last count- 46832 (View the current figure on computer or web version of 4G mobile)

अंगिका गीत 
Angika song with poetic English translation



टुकुर टुकुर ताकै छै सरंगो' के ओर
हमरो विधाता छै एतना कठोर।
Gazing helplessly towards the sky
Our God is so cruel, why?

हमरे अलोधन पर टिकलो छै खेल
पेटो के पटरी पर दौड़े छै रेल
संघरी  के सुसुम सुसुम टपकै छै लोर
हमरो विधाता छै एतना कठोर।
The whole world moves by our precious labour
And we struggle always  just to win the hunger
Still here are tears coming out of eye
Our God is so cruel, why?


तरबा हसोतै ते रूपा के ढेर
कमियां  मासुत के फेरे पर फेर
घुड़की के लागै छि पित्तर के गोड़
हमरो विधाता छै एतना कठोर।
If you are a sycophant you worth the double
For real workers there is only trouble
So, all bow down to wrongdoers, fie!
Our God is so cruel, why?


ठनका से बमबारी, लोढ़ी के जान
मरला के मारीकहाबै भगवान
कांखी तर दाबने छै जिनगी के भोर
हमरो विधाता छै इतना कठोर।
Thunders drop on little innocent creature
To crush the already killed is the God’s  nature
Laughter has been taken, here is only cry 
Our God is so cruel, why?
........
Original Song in Angika by - Sudhir Kumar Programmer
Address of the original poet-ANGLOK,  Parwati Mil Sultangan, Bhagalpur, India 813213
Translated into English by - Hemant Das 'Him'
E-mail for sending response - hemantdas_2001@yahoo.com

कवि परिचय: सुधीर कुमार प्रोग्रामर अंगिका और हिन्दी भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार हैं.. इन्होंने अनेक मंचों पर अंगिका का प्रतिनिधित्व किया है और अंगिका के प्रचार-प्रसार और लोकप्रियता में इनके गीतों का बड़ा योगदान है. 

एस के प्रोग्रामर अपनी दो पुस्तकों को भोजपुरी और हिंदी के वरिष्ठ साहित्यकार भगवती प्रसाद द्विवेदी को उपहार स्वरूप देते हुए